man ki baat

Just another weblog

46 Posts

385 comments

priti


Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.

Sort by:

दिल दा मामला है ……..

Posted On: 13 Feb, 2015  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

Junction Forum Others में

0 Comment

मोदी जी का झाड़ू अभियान

Posted On: 1 Oct, 2014  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

Others में

6 Comments

हिन्द देश के वासियों ……

Posted On: 12 Sep, 2014  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

Hindi Sahitya Junction Forum Others में

1 Comment

आमों में आम नहीं ख़ास है ये ……..

Posted On: 5 Jul, 2014  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

Junction Forum Others में

0 Comment

कशमकश-लघु कथा

Posted On: 1 Jul, 2014  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

Junction Forum Others Others में

19 Comments

क्योंकि, सपने कभी नहीं मरते ……..

Posted On: 26 Jun, 2014  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

Junction Forum Others lifestyle में

14 Comments

यादें …….दो क्षणिकाएँ !

Posted On: 31 May, 2014  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

Others कविता में

1 Comment

अभय दान ………..लघु कथा

Posted On: 30 May, 2014  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

Hindi Sahitya Junction Forum Others में

2 Comments

विस्मृति ….

Posted On: 7 Apr, 2014  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

Junction Forum Others लोकल टिकेट में

2 Comments

Page 1 of 512345»

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

के द्वारा: priti priti

के द्वारा: priti priti

के द्वारा: priti priti

के द्वारा: priti priti

के द्वारा: priti priti

के द्वारा: priti priti

के द्वारा: priti priti

के द्वारा: priti priti

के द्वारा: शालिनी कौशिक एडवोकेट शालिनी कौशिक एडवोकेट

के द्वारा: sanjeevkumar0437891 sanjeevkumar0437891

के द्वारा: nishamittal nishamittal

के द्वारा: priti priti

टीवी पर ख़बरें आ रही हैं ,सभी पार्टियाँ सुर में सुर मिला रही हैं , आज किसी अबला की अस्मत नहीं लुटी ,ना ही जंतर-मंतर पर भीड़ जुटी। बात हो रही है ,सैनिकों के मान की ,नारी के सम्मान की और चर्चा है प्रगति के सोपान की। मैं सपने में सपने बुन रही हूँ ,खुशियों के फूल चुन रही हूँ। लोगों की सोच रही है बदल ,अब केवल धन ही नहीं है प्रबल , ‘सत्य’ की हो रही है अब कद्र ,नेता सभी हो गए हैं अब भद्र। उदय हो रहा है ,नए कल का सूरज , रंग ले ही आया हम सबका धीरज। मैं सपने में सपने बुन रही हूँ ,खुशियों के फूल चुन रही हूँ। यथार्थ और सपने बुनने में अंतर होता है प्रीती जी ! आपने बहुत सही विषय पर सही शब्द लिखे हैं ! लेकिन असल में मुझे तुकान्त कवितायेँ समझ आती हैं ! आपके शब्द और आपके भाव समझ आ रहे हैं !

के द्वारा: yogi sarswat yogi sarswat

के द्वारा: डॉ0 कुमारेन्द्र सिंह सेंगर डॉ0 कुमारेन्द्र सिंह सेंगर

के द्वारा: priti priti

के द्वारा: innerfeeling innerfeeling

के द्वारा: priti priti

के द्वारा: priti priti

के द्वारा: शालिनी कौशिक एडवोकेट शालिनी कौशिक एडवोकेट

के द्वारा: DR. SHIKHA KAUSHIK DR. SHIKHA KAUSHIK

के द्वारा: priti priti

के द्वारा: manoranjanthakur manoranjanthakur

के द्वारा: nishamittal nishamittal

के द्वारा: priti priti

प्रीति जी , हमारे देश की सबसे बड़ी बिडम्बना यही है हम भारतीयों को अपनी ही भाषा निम्न लगती है , आगे भी इसके सुधरने की कोई गुंजाइश मुझे नहीं लगती । हम पढ़े लिखे लोगों को तो शायद एक बार समझा लें पर रिक्शे वाले या उन गरीब अनपढ़ मजदूर लोगों को कैसे समझायेंगे जो इस उम्मीद से शहरों की तरफ रुख करते हैं कि उनका बच्चा शहर के किसी अंग्रेजी स्कूल में पढ़ेगा । और हिंदी का सबसे ज्यादा तो अपमान करने वाले वाले ये नेतागण हैं जिन्हें विदेशों में हिंदी बोलने तक में शर्म महसूस होती है , ये भले ही मात्रभाषा हिंदी लागू होनी चाहिए चिल्लाएं पर इनके खुद के बच्चे विदेशों में पढ़ते हैं । बहुत ही अच्छी प्रस्तुति

के द्वारा: Manisha Singh Raghav Manisha Singh Raghav

के द्वारा: priti priti

के द्वारा: rashmisri rashmisri

के द्वारा: priti priti

के द्वारा: Shweta Shweta

के द्वारा: Rachna Varma Rachna Varma

के द्वारा: priti priti

के द्वारा: yogi sarswat yogi sarswat

के द्वारा: sinsera sinsera

के द्वारा: priti priti

के द्वारा: priti priti

के द्वारा: seemakanwal seemakanwal

के द्वारा: priti priti

के द्वारा: Sumit Sumit

के द्वारा: seemakanwal seemakanwal




latest from jagran